SarkariJobGuide Special

Central Economic Intelligence Bureau me naukari kaise payen

दोस्तों इस पोस्ट मे  हम आपको Central Economic Intelligence Bureau ? पूरी जानकारी हिंदी में उपलब्ध करा रहे है !  यह जानकारी आपके लिए काफी महत्वपूर्ण साबित होगी|तो आइये जानते है विस्तार से…

Central Economic Intelligence Bureau क्या है?

देश की इस इंटेलिजेंस एजेंसी का काम आर्थिक अपराधों (Economic crimes) और आर्थिक युद्धों (Economic wars) से संबंधित आवश्यक जानकारी इकट्ठा करना है.

सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो (Central Economic Intelligence Bureau) की स्थापना जुलाई 1985 में हुई है. वर्तमान में इस एजेंसी का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है.

“सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो” आर्थिक आसूचना के लिए एक अधिदेशित नोडल एजेंसी है जो आर्थिक अपराध के लिए सभी संबंधित एजेंसियों के बीच प्रभावी बातचीत (Effective interactions) और समन्वय सुनिश्चित करती है.

यह एजेंसी सभी इकोनॉमिक इंटेलिजेंस के लिए आदान-प्रदान केंद्र के रूप में भी कार्य करती है और राजस्व विभाग के भीतर विभिन्न एजेंसियों और इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB), अनुसंधान और विश्लेषण विंग (RAW), केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) आदि सहित अन्य एजेंसियों के बीच इस तरह के आदान-प्रदान के लिए एक मंच प्रदान करती है.

ब्‍यूरो के अध्‍यक्ष विशेष सचिव एवं महानिदेशक हैं जिनकी सहायता के लिए तीन संयुक्त सचिव स्‍तर के अधिकारी होते हैं, जिनमें से एक संयुक्त सचिव (कोफेपोसा) के रूप में और अन्‍य दो उप महानिदेशक (प्रशासन और समन्‍वय) और उप महानिदेशक (आर्थिक आसूचना) के रूप में पदनामित होते हैं.

सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो में नौकरी कैसे मिले 

केंद्रीय आर्थिक आसूचना ब्यूरो यानी सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो (CEIB) में जरुरत के समय भर्ती का आयोजन किया जाता है. जिसकी अधिसुचना सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो की अधिकारिक वेबसाइट और अन्य न्यूज़ अलर्ट तथा जॉब अलर्ट वेबसाइटो पर प्रकाशित की जाती है.

जिसके लिए ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, बीई/ बी.टेक, एमई/ एम.टेक और अन्य डिग्रीधारी युवा छात्र नौकरी के लिए आवेदन कर सकते है. सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो में कई पदों के लिए डायरेक्ट भर्ती होती है, तो कई पदों पर पहले से सेवा कर रहे कर्मचारियों को ही पदोंन्नत किया जाता है.

अन्य सरकारी विभागों की तुलना में “सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो” में नौकरी के लिए अधिक रिक्तियां नहीं निकलती है. केवल जरुरत के समय ही लिमिटेड पदों के लिए “सी.ई.आई.बी नौकरी” के लिए भर्ती अधिसुचना जारी की जाती है.

शायद कुछ दिनों से CEIB के लिए कोई भर्ती नहीं की गई है, क्योंकि कुछ दिनों से CEIB Recruitment अधिसूचनाएं दिखाई नहीं दी हैं. इंटरनेट पर भी पुरानी CEIB Recruitment अधिसूचनाएं दिखाई दे रही है.

अब आगे जब भी “सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो में भर्ती” होगी, तो हम उसकी अधिसूचना इस वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे. इस वेबसाइट पर आप वह अधिसूचना “जॉब्स” सेक्शन में देख सकेंगे.

जानकारी के लिए आपको बता दें कि “सेंट्रल इकोनॉमिक इंटेलिजेंस ब्यूरो” (CEIB) की भर्ती प्रक्रिया में लिखित परीक्षा, व्यावहारिक परीक्षण और व्यक्तिगत साक्षात्कार शामिल हैं. इसी के आधार उम्मीदवारों नौकरी दी जाती है.

अन्य जांच और खुफियां एजेंसियों में नौकरी

वर्तमान में, देश के युवा देश की जांच और खुफिया एजेंसियों की नौकरियों में बहुत रुचि दिखा रहे हैं. कई युवाओं का कहना है कि अन्य सुरक्षा संगठन की तुलना में जांच और खुफिया संगठनो की नौकरियां काफी चैलेंजिंग नौकरियां होती है.

बता दें कि देश की जांच और खुफिया संगठनो मे नौकरी पाना भी किसी चैलेंज से कम नहीं होता है, क्योंकि कड़ी मेहनत और कई परीक्षणों के बाद इन संगठनो मे नौकरी मिलती है.

1. रॉ (Research and Analysis Wing) 

रॉ (RAW) यह भारत का सबसे गोपनीय खुफिया विभाग है. Raw का मतलब है- अनुसंधान और विश्लेषण स्कंध (Research and Analysis Wing). रॉ कार्यो के बारे में किसी को भी कुछ भी पता नहीं चलता है, यहां तक की रॉ एजेंट के परिवार वालों को भी इनके कार्यो के बारे पता नहीं होता है.

रॉ एजेंट कैसे कार्य करते इसके बारे में हम सिर्फ अंदाजा ही लगा सकते है या फिर फिल्मो में जैसे दिखाते है वो ही बता सकते है लेकिन फिल्मे भी रियल लाइफ से जुड़े होते है. एक था टाइगर, टाइगर अभी जिन्दा है, इन फिल्मो में रॉ के कार्यो के बारे में दिखाया गया है.

कुछ फिल्मो एवं कुछ जनरल जानकारी के अनुसार, आप केवल अंदाजा ही लगा सकते है कि रॉ एजेंट कौन से कार्य करते है. क्योंकि यह देश का सबसे गोपनीय विभाग है. अगर आप रॉ एजेंट बनना चाहते है या रॉ में नौकरी पाना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

2. आईबी (Intelligence Bureau) 

इंटेलिजेंस ब्यूरो जिसे खुपिया ब्यूरो भी कहा जाता है, अंग्रेजी में इसे IB (Intelligence Bureau) कहते है. यह भारत की आंतरिक खुफिया एजेंसी है, इसका उपयोग भारत के भीतर से खुफिया जानकारियों को इकट्ठा करने के लिए किया जाता है.

आईबी की मदद से भारत के आंतरिक वाद-विवाद आपदाओं को हल किया जाता है. यह एक गुप्त एजेंसी है, कई जगह कई बार यहां तक कि उनके परिवार के सदस्यों को उनके जॉब व उनके ठिकाने के बारे में जानकारी नहीं होती.

इंटेलीजेंस ब्यूरो शुरू में भारत की आंतरिक और बाह्य खुफिया एजेंसी थी लेकिन 1968 में इसे विभाजित किया गया था और केवल आंतरिक खुफिया का काम सौंपा गया था. हर साल आयबी के वजह से हमारे देश के कई सारे मसले हल किये जाते है.

आईबी बिना वारंट के किसी का भी वायर टेप कर सकती है, क्योंकी खुपिया जानकारी निकालने के लिए आईबी को सरकार की तरफ से अधिकृत किया गया है. अगर आप आईबी में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

3. सीबीआई (Central Bureau of Investigation) 

सीबीआई को हिंदी में केंद्रीय जांच ब्यूरो या केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो भी कह सकते है. यह भारत सरकार की एक जांच एजेंसी है. हर देश में अपराधिक मामलो को सुलझाने के लिए या हल करने के लिए कई तरह की जांच एजेंसिया होती है उनमे से यह एक है.

यह भारत सरकार की प्रमुख जांच एजेंसियों में से एक है. इस एजेंसी की जाँच आपराधिक एवं राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े हुए अलग अलग प्रकार के मामलों की जाँच करने के लिये लगायी जाती है.

सीधी भाषा में कहा जाए तो, देश विदेश स्तर पर होनेवाले अपराध जैसे हत्या, भ्रस्टाचार, घोटाले आदि कई तरह की आपराधिक एवं राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलो की जांच करने के लिए इस जांच एजेंसी की जांच लगाई जाती है.

सीबीआई में कॉन्सटेबल, हेड कांस्टेबल, सब-इंस्पेक्टर, और लोअर डिवीजन क्लर्क के लिए (Group C) पदों की सीधी भर्ती होती है, बाकि अधिकारियों पदों की भर्ती जूनियर पोस्ट से सीनियर पोस्ट पर प्रमोशन या डेपुटेशन पर होती है. अगर आप सीबीआई में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

4. एनआईए (National Investigation Agency) 

नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी” जिसे “राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण” या “राष्ट्रीय जांच एजेंसी” भी कहा जाता है. शॉर्ट में इसे एनआईए (NIA) कहा जाता है. “एनआईए” यह भारत में आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए भारत सरकार द्वारा स्थापित एक संघीय जांच एजेंसी है.

बता दें कि यह एजेंसी राज्यों की विशेष अनुमति के बिना देश भर में किसी भी आतंकवाद से संबंधित मामलों की जांच करने के लिए अधिकृत है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी का मुख्यालय नई दिल्ली में है और हैदराबाद, गुवाहाटी, कोच्चि, लखनऊ, मुंबई, कोलकाता, जयपुर, जम्मू में इसकी क्षेत्रीय शाखाएँ हैं.

भारत में आतंकवाद से लड़ने के लिए सरकार द्वारा 31 दिसंबर 2008 को संसद में नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी ऐक्ट 2008 पास किया गया और उसके बाद इसका गठन किया गया था.

यह एजेंसी केंद्रीय आतंकवाद विरोधी कानून प्रवर्तन एजेंसी के रूप में कार्य करती है. यह एजेंसी गृह मंत्रालय के अंतर्गत आती है, अगर आप “नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी” में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

5. एनटीआरओ (National Technical Research Organisation) 

राष्ट्रीय तकनीकी अनुसंधान संगठन यानी “National Technical Research Organisation” जिसे संक्षिप्त में NTRO के नाम से जाना जाता है. यह भारत देश की एक तकनीकी खुफिया एजेंसी है.

इस खुफिया एजेंसी की स्थापना वर्ष 2004 में की गई थी और वर्ष 2017 में गृह मंत्रालय द्वारा एक अधिसूचना जारी कर इसे खुफिया संगठनों के भारतीय अधिनियम, 1985 के तहत सूचीबद्ध किया गया है.

यह खुफिया संगठन सम्पूर्ण एशिया महाद्वीप में इकलौता संगठन हैं जो नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिप्टोलॉजी रिसर्च एंड डेवलपमेंट यानी एनआईसीआरडी (NICRD) में शामिल है.

वर्तमान में एनटीआरओ यानी नेशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में है. यह खुफिया एजेंसी प्रधानमंत्री कार्यालय और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के अधीन है.

अगर आप “नेशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन” या एनटीआरओ में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

6. एनसीबी Narcotics Control Bureau

स्वापक नियंत्रण ब्युरो यानी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau) को ही संक्षेप में NCB के नाम से जाना जाता है. यह भारत सरकार की एक खुफियां एजेंसी है.

इस खुफिया एजेंसी के तहत देश में ड्रग तस्करी और अवैध मादक पदार्थों के दुरुपयोग को रोका जाता है. आज तक इस इंटेलिजेंस एजेंसी के तहत कई नशे के सौदागर को पकड़ा गया है.

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) भारत में मादक पदार्थों की तस्करी और इसके दुरुपयोग को रोकने के लिए काम करती है, ताकि देश का कोई भी व्यक्ति ड्रग, कोकीन, हेरोइन, गाँजा, चरस, अफीम जैसे अवैध मादक पदार्थों के नशे का आदी न हो.

भारत में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की स्थापना 17 मार्च 1986 को हुई है. वर्तमान में, इस खुफिया एजेंसी का राष्ट्रीय मुख्यालय दिल्ली, राष्ट्रीय राजधानी में स्थित है और इसके कार्यालय कई बड़े बड़े शहरों में स्थित है.

अगर आप “नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो” यानी एनसीबी (NCB) में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

7. डीआईए (Defence Intelligence Agency) 

रक्षा खुफिया एजेंसी यानी डिफेंस इंटेलिजेंस एजेंसी (Defence Intelligence Agency), जिसे संक्षेप में डी.आई.ये (DIA) के रूप में जाना जाता है. यह भारत की प्रमुख खुफियां एजेंसियों में से एक है. वर्तमान में इस एजेंसी (DIA) का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है.

रक्षा खुफिया एजेंसी के Director General पूरे संगठन के प्रमुख होते हैं. Director General रक्षा मंत्री के खुफिया विभाग के प्रमुख सलाहकार और रक्षा कर्मचारियों के प्रमुख हैं.

यह खुफिया एजेंसी देश के सैन्य बल के साथ काम करती है, इस एजेंसी का काम देश-विदेश से डिफेंस से जुड़ी खुफिया जानकारी जुटाना और सैन्य बलों को खूफिया जानकारी मुहैया कराना है.

डिफेंस इंटेलिजेंस एजेंसी या DIA एक खुफिया एजेंसी है जो भारतीय सशस्त्र बलों, यानी सेना, नौसेना और वायु सेना के तीनों विंगों के लिए खुफिया जानकारी प्रदान करने और समन्वय करने के लिए जिम्मेदार है, यह सभी रक्षा संबंधी खुफिया जानकारी के लिए एक Nodal agency है.

अगर आप “डिफेंस इंटेलिजेंस एजेंसी” यानी डीआईए (DIA) में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

8. डायरेक्टोरेट ऑफ एयर इंटेलिजेंस]

डायरेक्ट्रोरेट ऑफ़ एयर इंटेलिजेंस (Directorate of Air Intelligence) यह वायु सेना से संबंधित एक इंटेलिजेंस एजेंसी है. देश की अन्य खुफिया एजेंसियों की तरह यह भी एक खुफिया एजेंसी है, जो भारतीय वायु सेना के साथ काम करती है.

सभी बलों की अपनी खुफिया यूनिट्स है, जैसे- Army – Directorate of Military Intelligence (MI), Navy – Directorate of Naval Intelligence, Air Force – Directorate of Air Intelligence आदि.

बता दें कि “डायरेक्ट्रोरेट ऑफ़ एयर इंटेलिजेंस” देश की महत्वपूर्ण खुफिया एजेंसियों में से एक है, जो देश की सुरक्षा में अहम भूमिका निभाती हैं. इसने 1965 और 1971 के भारत-पाक युद्ध में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

डायरेक्ट्रोरेट ऑफ़ एयर इंटेलिजेंस (Directorate of Air Intelligence) यह देश के आंतरिक और सीमा क्षेत्रों पर नजर रखता है. ताकि सीमा पर दुश्मन की हर कोशिश नाकाम की जा सके.

“डायरेक्ट्रोरेट ऑफ़ एयर इंटेलिजेंस” एजेंसी Airspace Area पर नजर रखने के लिए अवाक्स (AWACS – Airborne warning and control system) और ड्रोन का उपयोग करती है.

अगर आप डायरेक्टरेट ऑफ एयर इंटेलिजेंस यानी “वायु खुफिया निदेशालय” में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

9. डायरेक्टोरेट ऑफ मिलिट्री इंटेलिजेंस 

डायरेक्टरेट ऑफ मिलिट्री इंटेलिजेंस (Directorate of Military Intelligence), यह भारतीय सेना से संबंधित एक इंटेलिजेंस एजेंसी है. देश की अन्य खुफिया एजेंसियों की तरह यह भी एक खुफिया एजेंसी है, जो भारतीय सेना के साथ काम करती है.

जानकारी के लिए आपको बता दें कि “डायरेक्टरेट ऑफ मिलिट्री इंटेलिजेंस” को संक्षेप में “एमआई” (MI) के नाम से भी जाना जाता है. यह भारतीय थल सेना (Indian Army) की इंटेलिजेंस विंग है.

सभी बलों की अपनी खुफिया यूनिट्स है, जैसे- Navy – Directorate of Naval Intelligence, Air Force – Directorate of Air Intelligence, Army – Directorate of Military Intelligence (MI) आदि.

डायरेक्टरेट ऑफ मिलिट्री इंटेलिजेंस यानी “सैन्य खुफिया निदेशालय” की स्थापना 1941 में की गई थी, ताकि सेना के लिए क्षेत्र की खुफिया जानकारी हासिल की जा सके.

देश में स्वतंत्रता के बाद, यह सेना का एक छोटा विभाग बन गया जिसने आर्मी फोर्सेस के भीतर भ्रष्टाचार की जांच की. यह बहुत ही गुप्त विभाग है, इसकी गतिविधियों के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं.

अगर आप डायरेक्टरेट ऑफ मिलिट्री इंटेलिजेंस यानी “सैन्य खुफिया निदेशालय” में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

Related Post:

10. डायरेक्टोरेट ऑफ नेवल इंटेलिजेंस

डायरेक्टोरेट ऑफ नेवल इंटेलिजेंस (Directorate of Naval Intelligence), यह नौसेना (Navy) से सबंधित एक खुफिया एजेंसी है. देश की अन्य खुफिया एजेंसियों की तरह यह भी एक खुफिया एजेंसी है, जो भारतीय नौसेना के साथ काम करती है.

सभी बलों की अपनी खुफिया यूनिट्स है, जैसे- Army – Directorate of Military Intelligence (MI), Air Force – Directorate of Air Intelligence, Navy – Directorate of Naval Intelligence. आदि.

बता दें कि “डायरेक्ट्रोरेट ऑफ़ नेवल इंटेलिजेंस” देश की महत्वपूर्ण खुफिया एजेंसियों में से एक है, जो देश की सुरक्षा में अहम भूमिका निभाती हैं. इसने कराची बंदरगाह पर बमबारी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

डायरेक्टोरेट ऑफ नेवल इंटेलिजेंस (Directorate of Naval Intelligence) यह देश के सामुद्रिक क्षेत्र में ख़ुफ़िया तरीके से सूचनाएं एकत्रित करने का काम करती है, ताकि दुश्मन के गतिविधियों पर नजर रखी जा सके.

अगर आप डायरेक्टरेट ऑफ नेवल इंटेलिजेंस यानी “नेवल खुफिया निदेशालय” में नौकरी कैसे पाए, इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो निम्नलिखित लिंक पर जाए और जाने.

यह भी है कुछ जांच और खुफिया एजेंसियां
जॉइंट सिफेर ब्यूरो (JCB)
राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई)
सिग्नल खुफिया निदेशालय

ये भी पड़ सकते है

  • Kaun Kya Hai 2020 की पूरी लिस्ट – Click Here
  • भारत के जलप्रपात – Click here
  • महासागरीय जलधाराये हिंदी में – Trick के साथ- Click Here
  • भारतीय राज्यों के वर्तमान मुख्यमंत्रियों की सूची- Click Here
  • भारत की प्रमुख नदियाँ और उनकी लम्बाई : उद्गम स्थल : सहायक नदी हिंदी में– Click Here
  • विश्व के 10 सबसे बड़े बंदरगाहों की सूची हिंदी में- Click Here
  • उत्तर प्रदेश की प्रमुख जनजातियाँ हिंदी में जानिए- Click Here
  • भारत के महत्वपूर्ण दिन और तिथि की सूची हिंदी में- Click Here
  • प्रमुख अंतरराष्ट्रीय सीमाएं हिंदी में- Click Here
  • विश्व के प्रमुख देश एवं उनके सर्वोच्च सम्मान- Click Here
  • भारत की प्रमुख नदी और उनके उद्गम स्थल-Click Here
  • भारत के पुरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों को कितनी सैलरी मिलती है- Click Here
  • ये विश्‍व की प्रमुख पर्वत श्रेणियां और उनकी ऊंचाई हिंदी में- Click Here
  • राजस्थान  प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग- Click Here

जल्द और सही जानकारी पाने के लिए हमें FaceBook पर Like करे 

कैसी लगी आपको ये Central Economic Intelligence Bureau ? की  यह पोस्ट हमें कमेन्ट के माध्यम से अवश्य बताये और आपको किस विषय की नोट्स चाहिए या किसी अन्य प्रकार की दिक्कत जिससे आपकी तैयारी पूर्ण न हो पा रही हो हमे बताये हम जल्द से जल्द वो आपके लिए लेकर आयेगे|

  • 1
    Share
error: Content is protected !!