SarkariJobGuide Special

कैसे बनें एयर फ़ोर्स में पायलट ? जानें क्या है चयन प्रक्रिया, योग्यता मानदंड – हिंदी में

नमस्कार दोस्तो ,

एक बार फिर से www.sarkarijobguide.com पर आपका स्वागत है,दोस्तों इस पोस्ट मे  हम आपको कैसे बनें एयर फ़ोर्स में पायलट ? जानें क्या है चयन प्रक्रिया, योग्यता मानदंड – हिंदी में  की जानकारी उपलब्ध करा रहे है ! जो आपके Airforce में पोइलेट की तैयरी कर रहे स्टूडेंट के लिए बहुत Important है,तो दोस्तों उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए काफी महत्वपूर्ण साबित होगी|तो आइये जानते है विस्तार से …

एयर फोर्स में पायलट बनना कई युवाओं का सपना होता है लेकिन ये इतना आसान नहीं है. इसके लिए बहुत अधिक समर्पण, दृढ़ इच्छाशक्ति और इस चुनौतीपूर्ण एवं आकर्षक भूमिका के लिए साहस आपमें होना चाहिए.

एयर फोर्स में पायलट बनना कई युवाओं का सपना होता है लेकिन ये इतना आसान नहीं है. इसके लिए बहुत अधिक समर्पण, दृढ़ इच्छाशक्ति और इस चुनौतीपूर्ण एवं आकर्षक भूमिका के लिए साहस आपमें होना चाहिए.

एयर फोर्स पायलट को काफी कठिन ट्रेनिंग प्रक्रिया से गुजरना होता है जिसमें फाइटर प्लेन फ्लाइंग के दौरान हवा से हवा में आक्रमण करना होता है. इंडियन एयर फोर्स पायलट की जिम्मेदारी होती है कि दिये गये मिशन को पूरा करे जिसमें दुश्मन के बेस को तबाह करना, सोल्जर्स / सिविलयन्स को बचाना या दोनो शामिल होते हैं. कुछ एक मामलों में एयर फोर्स पायलट को शांति बनाये रखने वाले मिशन में भी लगाया जाता है. हालांकि, ज्यादातर मामलों में इन्हें फायटर जेट के साथ आक्रमण के लिए ट्रेनिंग दी जाती है.

एयर फोर्स में पायलट बनने के लिए कोर्सेस

इंडियन एयर फोर्स में पायलट बनना आसान नहीं है. चार ऐसे तरीके हैं जिनके माध्यम से उम्मीदवाद इंडियन एयर फोर्स में पायलट बन सकते हैं. नेशनल डिफेंस एकेडेमी (एनडीए), कंबाइंड डिफेंस सर्विस एग्जाम (सीडीएसई), एनसीसी इंट्री और शॉर्ट सर्विस कमीशन इंट्री (एसएससी) ऐसे कोर्सेस हैं जिनके माध्यम से एयर फोर्स में फ्लाइंड ऑफिसर के रूप में आपकी इंट्री हो सकती है. इनमें पहले तीन तरीके पर्मानेंट कमीशन हैं जबकि चौथा अस्थायी कमीशन है.

उम्मीदवार एनडीए 12वीं के बाद ज्वाइन कर सकते हैं. अन्य कोर्सेस के लिए उम्मीदवारों को ग्रेजुएट होना जरूरी है.

नेशनल डिफेंस एकेडेमी (एनडीए): एयर फोर्स में फ्लाइंग ब्रांच ज्वाइन करने के लिए, उम्मीदवारों को एनडीए की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है. एनडीए परीक्षा यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (यूपीएससी) द्वारा आयोजित की जाती है.  एनडीए परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को एनडीए में तीन वर्षीय ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है जिसके बाद एयर फोर्स ट्रेनिंग इस्टैब्लिश्मेंट्स में ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है. ट्रेनिंग के बाद उम्मीदवारों को पर्मानेंट कमीशन ऑफिसर्स के रूप में कमीशन या इंडियन एयर फोर्स स्टेशन में पायलट के रूप नियुक्ति दी जाती है.

कंबाइंड डिफेंस सर्विस एग्जामिनेशन (सीडीएसई): एनडीए के अतिरिक्त यूपीएससी सीडीएससई परीक्षा का भी आयोजन करता है जिसके माध्यम से भी पुरुष उम्मीदवार पायलट बन सकते हैं. सीडीएस परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवारों को इंडियन मिलिट्री एकेडमी/इंडियन नेवल एकेडमी/एयर फोर्स एकेडमी में दाखिला दिया जाता है. एनडीए ट्रेनिंग की तरह ही ट्रेनिंग के बाद उमीदवारों को पर्मानेंट कमीशन ऑफिसर्स की नियुक्ति दी जाती है या एयर फोर्स स्टेशन में पायलट के रूप में नियुक्ति दी जाती है.

नेशनल कैडेट कॉर्प्स (एनसीसीस्पेशल इंट्री: अब बात आती है एनसीसी स्पेशल इंट्री की, जो कि सिर्फ पुरूष उम्मीदवारो के लिए है. जिनके पास एयर विंग सीनियर डिविजन का ‘सी’ सर्टिफिकेट होता है उन्हें नेशनल कैडेट कॉर्प्स (एनसीसी) स्पेशल इंट्री के लिए योग्य माना जाता है. नियुक्ति डायरेक्टोरेट जनरल नेशनल कैडेट कॉर्प्स या संबंधित एनसीसी एयर स्क्वाड्रन के माध्यम से दी जाती है. यह एक स्पेशल इंट्री स्कीम है जिसमें उम्मीदवारों को पर्मानेंट कमीशन ऑफिसर्स के रूप में नियुक्ति दी जाती है.

एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी): एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी) महिला एवं पुरुष दोनो ही उम्मीदवारों के लिए उपलब्ध होता है. इस टेस्ट का आयोजन इंडियन एयर फोर्स द्वारा 14 वर्षों के लिए शॉर्ट सर्विस कमीशन में नियुक्ति देने के लिए किया जाता है. इस माध्यम से उम्मीदवारों का चयन टेक्निकल ब्रांचेस एवं ग्राउंड ड्यूटी ब्रांचेस के लिए किया जाता है. इस परीक्षा का आयोजन वर्ष में दो बार किया जाता है.

एयर फोर्स पायलट बनने के लिए योग्यता मानदंड

एयर फोर्स पायलट बनने के लिए उम्मीदवारों को भारत का नागरिक होना चाहिए.

एयर फोर्स पायलट बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

एनडीए परीक्षा के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों को फिजिक्स और मैथमेटिक्स विषयों के साथ 12वीं पास होना चाहिए.

सीडीएस परीक्षा, एनसीसी स्पेशल इंट्री और एएफसीएटी के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों को ग्रेजुएट होना चाहिए. इंजीनियरिंग डिग्री वाले उम्मीदवार भी सीडीएस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं.

आप ये भी पढ़ सकते है-

आयु सीमा

एनडीए परीक्षा के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों की आयु 16-1/2 से 19 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

सीडीएस परीक्षा, एनसीसी स्पेशल इंट्री और एएफसीएटी के माध्यम से इंट्री के लिए उम्मीदवारों की आयु 20 से 24 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

एयर फोर्स पायलट को मिलने वाली सैलरी और अन्य एलाउंसेस

फ्लाइंग ऑफिसर या इंडियन एयर फोर्स पायलट की सैलरी पे-बैंड के आधार पर निर्धारित होती है. मूल वेतन पे-बैंड3 रु.15600-39100 होता है. इसके अतिरिक्त ग्रेड पे रु.5400 प्रति माह दिया जाता है, मिलिट्री सर्विस पे रु.6000 प्रति माह, डियरनेट एलाउंस रु.21,600 प्रति माह है, किट मेंटेनेंस एलाउंस रु.500 प्रति माह और ट्रांसपोर्ट एलाउंस रु.3200+डीए (प्रमुख शहरों में) / रु.1600 + डीए (दूसरे शहरों में) भी दिया जाता है. फ्लाइंग ब्रांच ऑफिसर्स को अन्य एलाउंसेस में रु.11250 प्रति माह दिया जाता है. कुल मिलाकर नये रिक्रूट फ्लाइंग ऑफिसर को, छठे वेतन आयोग के अनुसार, रु.66,110 प्रति माह दिया जाता है. सर्विस में अनुभव एवं प्रमोशन के बाद सैलरी पे-बैंड 4 में रु.1.5 लाख तक हो जाती है.

Related Post:- 

जल्द और सही जानकारी पाने के लिए हमें FaceBook पर Like करे 

कैसी लगी आपको ये कैसे बनें एयर फ़ोर्स में पायलट ? जानें क्या है चयन प्रक्रिया, योग्यता मानदंड – हिंदी मेंकी  यह पोस्ट हमें कमेन्ट के माध्यम से अवश्य बताये और आपको किस विषय की नोट्स चाहिए या किसी अन्य प्रकार की दिक्कत जिससे आपकी तैयारी पूर्ण न हो पा रही हो हमे बताये हम जल्द से जल्द वो आपके लिए लेकर आयेगे|

error: Content is protected !!