RLY SarkariJobGuide Special

रेलवे में टर्मिनल, जंक्शन और सेंट्रल स्टेशन के बीच क्या अंतर होता है

रेलवे मंत्रालय के तहत भारत सरकार द्वारा संचालित भारतीय रेलवे एशिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क और विश्व का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. भारत में रेलवे पटरी 92,081 किलोमीटर में फैली हुई है जो 66,687 किलोमीटर की दूरी को कवर करती है. रेल यात्रा हम सबके जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. सबसे अविस्मरणीय रेल यात्रा को माना जाता है. इसके जरिये आराम से कहीं भी पहुंचा जा सकता है. जब आप सफ़र करते हैं तो आपने देखा होगा कि रास्ते में टर्मिनल, जंक्शन और सेन्ट्रल स्टेशन पड़ते हैं. क्या आपने कभी जानने की कोशिश की है कि इनके बीच क्या अंतर होता है. आइये इस लेख के माध्यम अध्ययन करते हैं.

1. भारतीय रेलवे टर्मिनस / टर्मिनल

भारतीय रेलवे टर्मिनस / टर्मिनल वह स्थान होता है जहा पर ट्रेन आगे नहीं जाती है मतलब ट्रैक या मार्ग समाप्त होता है. टर्मिनस / टर्मिनल का अर्थ ही वह स्टेशन है जहाँ से ट्रेन आगे नहीं जाती है. क्योंकि ट्रैक की समाप्ति है, जहां प्रत्येक आने वाला ट्रैक स्टॉप-ब्लॉक पर समाप्त होता है और आगे नहीं जाता है.यानी ट्रेन केवल एक ही दिशा में प्रवेश कर सकती है. इसे ऐसे भी समझा जा सकता है कि जिस दिशा से ट्रेन टर्मिनल स्टेशन पर पहुंचती है और दूसरी जगह जाने के लिए उसे उसी दिशा में वापिस आकर फिर से गुजरना पड़ता है. भारत में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस / विक्टोरिया टर्मिनस और लोकमान्य तिलक टर्मिनल सबसे बड़े टर्मिनल स्टेशन हैं जबकि अन्य बांद्रा टर्मिनस, हावड़ा टर्मिनस, भावनगर टर्मिनल, कोचीन हार्बर टर्मिनस इत्यादि टर्मिनल स्टेशन  हैं.

2. भारत रेलवे के सेंट्रल स्टेशन

सेंट्रल स्टेशन का मतलब शहर का सबसे व्यस्त और सबसे महत्वपूर्ण स्टेशन है. जहा पर भीड़ होती है. लेकिन यह सेंट्रल स्टेशन सबसे बड़ा होता है. इसके अन्दर कई रेलवे स्टेशन होते है. यह पर लोग बहुत भी संख्या में आगमन और प्रस्थान करते है. लेकिन बहुत से स्टेशन होने पर किसी शहर में एक केंद्रीय स्टेशन होना भी जरूरी नहीं है. जैसे की भारत की राजधानी दिल्ली में कोई भी सेंट्रल स्टेशन नहीं है. यह सबसे पुराने स्टेशन हो सकते हैं. भारत में कुल 5 सेंट्रल स्टेशन है|त्रिवेंद्रम सेंट्रल, कानपूर सेंट्रल, मैंगलोर सेंट्रल, मुंबई सेंट्रल और चेन्नई सेंट्रल.

3. भारत रेलवे में जंक्शन

वह एक रेलवे स्टेशन जिससे से कम से कम 3 रास्त से गुजर रहे है ऐसे रेलवे स्टेशन को जंक्शन कहा जाता है. इन स्टेशनों पर आने वाले ट्रेनों में कम से कम 2 या उससे अधक निवर्तमान रेल लाइनें या पटरी होती है. उदहारण के लिए मथुरा जंक्शन जो की उच्चतम मार्गों के साथ है. और सलेम जंक्शन से 5 मार्ग, जबकि विजयवाड़ा जंक्शन और बरेली जंक्शन से भी 5-5 मार्ग निकालते है.

अब आप जान गए होंगे की रेलवे में टर्मिनल, जंक्शन और सेंट्रल स्टेशन के बीच क्या अंतर होता है.

जल्दऔर सही जानकारी पाने के लिए हमें FaceBook पर Like करे

कैसी लगी आपको ये रेलवे में टर्मिनल, जंक्शन और सेंट्रल स्टेशन के बीच क्या अंतर होता है की  यह पोस्ट हमें कमेन्ट के माध्यम से अवश्य बताये और आपको किस विषय की नोट्स चाहिए या किसी अन्य प्रकार की दिक्कत जिससे आपकी तैयारी पूर्ण न हो पा रही हो हमे बताये हम जल्द से जल्द वो आपके लिए लेकर आयेगे|

आप ये भी पड़ सकते है

  • Kaun Kya Hai 2019 की पूरी लिस्ट – Click Here
  • भारतीय राज्यों के वर्तमान मुख्यमंत्रियों की सूची– Click Here
  • भारत की प्रमुख नदियाँ और उनकी लम्बाई : उद्गम स्थल : सहायक नदी हिंदी में–Click Here
  • विश्व के 10 सबसे बड़े बंदरगाहों की सूची हिंदी में-Click Here
  • उत्तर प्रदेश की प्रमुख जनजातियाँ हिंदी में जानिए- Click Here
  • भारत के महत्वपूर्ण दिन और तिथि की सूची हिंदी में- Click Here
  • प्रमुख अंतरराष्ट्रीय सीमाएं हिंदी में– Click Here
  • विश्व के प्रमुख देश एवं उनके सर्वोच्च सम्मान-Click Here
  • भारत की प्रमुख नदी और उनके उद्गम स्थल-Click Here
  • भारत के पुरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों को कितनी सैलरी मिलती है- Click Here
  • ये विश्‍व की प्रमुख पर्वत श्रेणियां और उनकी ऊंचाई हिंदी में- Click Here
  • राजस्थान  प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग-Click Here
  • राजस्थान : जनगणना 2011- हिंदी में-Click Here

धन्यवाद——-

  • 5
    Shares
error: Content is protected !!