अध्यादेश क्या है और यह कब लागू किया जाता है-हिंदी में

इस पोस्ट में हम आपको अध्यादेश क्या है और यह कब लागू किया जाता है के बारे में जानकारी देंगे, क्युकी इस टॉपिक से लगभग एक या दो प्रश्न जरूर पूछे जाते है तो आप इसे जरूर पड़े अगर आपको इसकी पीडीऍफ़ चाहिये तो कमेंट के माध्यम से जरुर बताये| आप हमारी बेबसाइट को रेगुलर बिजिट करते रहिये, ताकि आपको हमारी डेली की पोस्ट मिलती रहे और आपकी तैयारी पूरी हो सके|

अध्यादेश क्या है और यह कब लागू किया जाता है


संविधान से जुड़े कुछ ऐसे शब्द होते है जिनकी जानकारी देश के अधिकांश नागरिकों को नहीं होती है। इन शब्दों में से ही एक शब्द है ‘अध्यादेश। लेकिन आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको ‘अध्यादेश किसे कहते है व इससे जुड़े तमाम सवालों के जबाव’ आसान से आसान शब्दों में देने जा रहे है।

यदि आप भी इस टॉपिक पर विस्तारित जानकारी चाहते है तो इस पोस्ट को पूर्ण रूप से जरूर पढे। जिससे आपके मन में अध्यादेश के बारे में सभी वहम दूर हो जाये और आप जागरूक हो जाये। तो आइये आज की इस पोस्ट की शुरुवात करते है।

अध्यादेश किसे कहते हैं 

अध्यादेश को इंग्लिश में ordinance भी कहा जाता है।

भारतीय संसद के द्वारा नये कानूनों का निर्माण,पुराने कानूनों में संशोधन किया जाता है। लेकिन जब संसद का सत्र न चल रहा हो तो भारत सरकार के केंद्रीय मंत्रीमण्डल की सिफारिश पर भारत का राष्ट्रपति जिन कानूनों को लागू करता है वह अध्यादेश कहलाता है।

अध्यादेश को हम कुछ इस प्रकार से भी परिभाषित कर सकते है “वें कानून जो केन्द्रीय मंत्रीमण्डल की सिफारिश पर भारत का राष्ट्रपति लागू करता है,वे कानून अध्यादेश कहलाते है। इन कानूनों को केवल तभी लागू किया जा सकता है जब संसद का सत्र न हो। अध्यादेश भी संसद द्वारा लागू किये गये कानून के समान ही प्रभावी होते है।”

अध्यादेश की अवधि क्या है

अध्यादेश लागू होने के बाद कुछ ही समय तक प्रभावी रहते है। इनको संसद में एक निश्चित अवधि में पेश करना अनिवार्य होता है।

अध्यादेश को लागू करने के बाद न्यूनतम 6 सप्ताह व अधिकतम 6 महीने के अंदर संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में पेश करना होता है। दोनों सदनों में यदि यह कानून पारित हो जाता है तभी इसे संसद कानून के रूप में लागू करती है।

भारतीय संविधान का अनुच्छेद 123 राष्ट्रपति को किसी भी विषय पर अध्यादेश जारी करने का विशेषाधिकार देता है। लेकिन भारत का राष्ट्रपति अपने किसी भी अधिकार का प्रयोग स्वेच्छा से नहीं कर सकता है। वह केवल केंद्रीय मंत्रीमण्डल की सिफारिश पर अध्यादेश लागू कर सकता है।

अनुच्छेद 123 में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि राष्ट्रपति ऐसे समय में अध्यादेश पारित कर सकते हैं जब संसद सत्र में न हो लेकिन अध्यादेश का विषय इतना गंभीर और अनिवार्य होना चाहिए जिसे संसद के सत्र में आने तक टाला न जा सके।

अध्यादेश क्यों लागू किये जाते है

संसद का सत्र न चलने पर यदि भारत सरकार कोई जरूरी कानून देश में लागू करना चाहती है तो वह अध्यादेश लाती है। अध्यादेश भारत सरकार को तत्काल कोई कानून लागू करने के सक्षम बनाते है।

कैसी लगी आपको अध्यादेश क्या है और यह कब लागू किया जाता है-हिंदी में के बारे में यह पोस्ट हमें कमेन्ट के माध्यम से अवश्य बताये और आपको किस विषय की नोट्स चाहिए या किसी अन्य प्रकार की दिक्कत जिससे आपकी तैयारी पूर्ण न हो पा रही हो हमे बताये हम जल्द से जल्द वो आपके लिए लेकर आयेगे| आपके कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है |

SarkariJobGuide.com का निर्माण केवल छात्र को शिक्षा (Educational) क्षेत्र से सम्बन्धित जानकारी उपलब्ध करने के लिए किया गया है, तथा इस पर उपलब्ध पुस्तक/Notes/PDF Material/Books का मालिक SarkariJobGuide.com नहीं है, न ही बनाया और न ही स्कैन किया है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material प्रदान करते हैं। यदि किसी भी तरह से यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो कृपया हमें Mail करें SarkariJobGuide@gmail.com पर

error: Content is protected !!