भारत के पड़ोसी देश और सीमाओं के बारे में जानकारी-हिंदी में 

नमस्कार दोस्तो ,

इस पोस्ट में हम आपको भारत के पड़ोसी देश और सीमाओं के बारे में जानकारी-हिंदी में   के बारे में जानकारी देंगे, क्युकी इस टॉपिक से लगभग एक या दो प्रश्न जरूर पूछे जाते है तो आप इसे जरूर पड़े अगर आपको इसकी पीडीऍफ़ चाहिये तो कमेंट के माध्यम से जरुर बताये| आप हमारी बेबसाइट को रेगुलर बिजिट करते रहिये, ताकि आपको हमारी डेली की पोस्ट मिलती रहे और आपकी तैयारी पूरी हो सके|

भारत के पड़ोसी देश और सीमाओं के बारे में जानकारी-हिंदी में


भारत के पड़ोसी देशों के नाम व उनकी राजधानी (Bharat Ke Padosi Desh Ke Naam Aur Unki Rajdhani) भारत के 7 पड़ोसी देश हैं, जिसकी सीमाएँ भारत से मिलती हैं।
लगभग 15,200 किलोमीटर की भूमि सीमा और लगभग 7517 किलोमीटर के द्वीपों के समूहों के साथ भारत आकार में दुनिया का सातवाँ सबसे बड़ा देश है। भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है।

भारत-पाकिस्तान सीमा

भारत के पश्चिम में स्थित पाकिस्तान का क्षेत्रफल 7,96,940 किमी है।
यह विश्व में आकार की दृस्टि से 36 वा स्थान रखता है। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद है।
पाकिस्तान के साथ भारत का संबंघ बहुत ख़राब रहे है।
दोनों देशो ने कई बार पहल तो की है पर कोई खास नतीजा सामने निकल कर नहीं आये है।
भारत पाक सिमा रेखा को रेडक्लिफ लाइन कहा जाता है। जिसकी लम्बाई लगभग 2900 किलोमीटर है।
इस सिमा का निर्धारण 17 अगस्त 1947 को हुआ था।
भारत के राजस्थान पंजाब हरियाणा और गुजरात साथ ही जम्मू और कश्मीर पाकिस्तान की सिमा से लगा हुआ है।
यह दोनों देश थल सिमा के साथ-साथ जल सिमा भी साझा करते है।
भारत पाक सिमा पीओके को लेकर विवाद है या जम्मू और कश्मीर में है।
दोनों देश इस पर अपना दावा करते है। सन् 1965 में पाकिस्तान ने भारत पर इसी कारण से हमला किया था। जो 22 दिनों तक चला था।

भारत-चीन सीमा

चीन एशिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। चीन की जनसख्या 1.393 बिलियन है।
यह विश्व की सबसे अधिक आबादी वाला देश है।  इसका क्षेत्रफल 9,597,000 किमी है।
चीन की स्थापना  220 से 206 ईसा पूर्व किन वंश के राजा ने की थी।
भारत के उत्तर में स्थित चीन की सिमा उत्तर भारत के इन राज्यों से जुड़ती है।
अरूणाचल प्रदेश, सिक्किम, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और केंद शासित प्रदेश लद्दाक।
भारत-चीन सिमा को मेक मोहन रेखा कहा जाता है। जिसकी लम्बाई 890 किलोमीटर है।
1914 में शिमला समझौता के तहत इसका निर्धारण किया गया था।
इस सिमा को लेकर चीन विवाद करता रहता है। वह तो अरूणाचल प्रदेश पर भी अपना दवा करता है।
1962 में चीन सेना भारत के लद्दाक क्षेत्र पर खुस ए थे जिसके कारण दोनों देशो में युद्ध हुआ। और चीन ने भारत के कुछ क्षेत्र अपने अधीन कर लिया।
जिसे loc कहा जाता है। आये दिन चीन और भारत में सिमा को लेकर विवाद होता रहा है।
2020 में तो दोनों देशो के सैनिको के बीच हिंसक झड़पे भी हुयी हैं।

भारत-नेपाल सीमा

नेपाल भारत के उत्तर में स्थित एक लैंडलॉक देश है। यह 147181 वर्ग किलोमीटर में फैला है।
विश्व की सबसे ऊँची चोटी माउन्ट एवरेस्ट नेपाल में है। इस देश की संस्कृति और प्राकृतिक सुंदरता के कारण लोग यहाँ सैर करने आते है।
यहाँ की राष्ट्रीय भाषा नेपाली है इसके अलावा हिंदी भाषा भी बोली जाती है।
नेपाल भारत के साथ 1751 किलोमीटर सिमा साझा करती है।
बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्त्तरप्रदेश, सिक्किम राज्य नेपाल की सिमा से लगे है।
भारत सरकार ने नेपाल सीमा पर 3853 करोड़ रूपए की लागत से 1377 किलोमीटर सड़क का निर्माण कराया है। जिसमे उत्तराखंड, बिहार और  उत्तरप्रदेश राज्य शामिल है।
भारत और नेपाल की संस्कृति समान है। यही कारण है की दोनों देश के सम्बद्ध प्राचीन कल से है अच्छे रहे है।
हलाकि दोनों देशो में कभी मतभेद हुए है। परन्तु इससे ज्यादा दोनों देशो के सम्बंद में दूरिया दक्खने को नहीं मिलती है।
कुछ समय पहले नेपाल ने भारत पर आरोप लगाए थे की वे नेपाल के अंदर सड़को का निर्माण कर रहे है। जिसके कारण लोगो में आक्रोश की भावना देखने को मिला था।
जल्द ही दोनों देशो ने इसे शांतिपूर्ण तरीके से निपटा लिया।

भारत-भूटान सीमा

भूटान भारत में हिमालय में बसा हुआ है, इसकी राजधानी थिम्फू है।
भूटान का क्षेत्रफल 47,000 वर्ग किलोमीटर है. यह देश चीन और भारत के सिमा से गिरा हुआ है। अतः यह एक लैंडलॉक देश है।
भूटान में पर्वतीय क्षेत्र की अधिकता होने के कारन इसे उबड़ खाबड़ वाला देश भी कहा जाता है।
यहाँ पे 100 किमी की दुरी में 150 से 70000 मीटर ता की उचाई पायी जाती है।
भारत, भूटान के साथ 699 किलोमीटर सिमा साझा करता है।
भूटान से लगे राज्य सिक्किम, पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश और असम है।
भारत-भूटान सिमा पर 131 चौकिया स्थापित की गयी है।
भारत भूटान का संबंध मैत्रीपूर्ण रहे है। इन दोने देशो के बीच दार्जलिंग में 8 अगस्त 1949 को रक्षा और निति पर एक समझौता भी हुआ था।
काफी लम्बे समय के बाद 2007 में इस समझौते में कुछ बदलाव किये गए।
भौगोलिक दृस्टि से भूटान भारत के लिए एक महत्पूर्ण देश है। क्योकि चीन और भारत के बीच स्थित यह देश पूर्वोत्तर भारत के चिकन नेक से जुड़ा हुआ है।
यही कारण है की भारत डोकलाम विवाद में भूटान की सहायता किया। यदि चीन तिब्बत की तरह भूटान पर कब्ज़ा कर लेता है तो भारत के लिए मुश्किल हो सकती है।

श्रीलंका-भारत सीमा

भारत के दक्षिण में स्थित श्रीलंका एक द्वीप देश है इसकी राजधानी कोलम्बो है इसका कुल क्षेत्रफल 65,610 वर्ग किलोमीटर है।
श्रीलंका की प्राचीन राजधानी अनुराधापुरा था। श्रीलंका की आधिकारिक भाषा सिंहली है इसके अलावा यहाँ तमिल भी बोली जाती है।
भारत और श्रीलंका की दुरी 271 किलोमीटर है समुद्र में श्रीलंका और भारत के बीच कई छोटे छोटे द्वीप है।
भारत और श्रीलंका समुद्री सिमा साझा करते है। इसमें राम सेतु, पाक जल डमरू मन्नार की खाड़ी और लक्षदीप का सागर शामिल है।
इन दोने देशो की सुनिचत नहीं है इसके कारण भारत के मछुवारे गलती से श्रीलंका के सिमा में चले जाते है। जहा पे श्रीलंकाई सैनिक इनपर गोलिया चला देता है। या गिरप्तार कर लेते है।
भारत और श्रीलंका की संबंध राजनैतिक और सामरिक रूप से महत्वपूर्ण है।
यह देश भारत के दक्षिण में स्थित है। और चीन भारत को घेरने के लिए भारत के पड़ोस देशो को यूज़ कर रहा है।
अतः भारत यही चाहता है अपने पडोसी देशो से मित्रपूर्ण संबंध स्थापित रहे। वैसे भारत और श्रीलंका का सम्बन्ध अच्छा रहा है।

भारत-बांग्लादेश सीमा

बांग्लादेश भारत इ पूर्व में स्थित है। कुल क्षेत्रफल 144,000 वर्ग किलोमीटर है।
बांग्लादेश 8 अलग अलग भागो में बटा हुआ है। जिसे डिवीजन के नाम से जाना जाता है।
बांग्लादेश की सिमा असम, मिजोरम त्रिपुरा  मेघालय और पश्चिम बंगाल से लगती है।
भारत बांग्लादेश की सिमा रेखा की लंबाई 4096 किलोमीटर है। साथ ही दोनों देश जल सिमा भी साझा करते है।
इन देशो की सिमा निर्धारण 1947 को हुआ था। जब यह क्षेत्र पाकिस्तान के अंतर्गत आता था।
भारत और बांग्लादेश के संबंध अछे रहे है। बांग्लादेश इंडिया के किये काफी अहमियत रखता है।
भारत इस देश को तीन और के घेरता है। इन दोनों देशो के सिमा पर सेना उपस्थित है। कई बार इन दोनों देशो के बीच सीमा विवाद हुए है। लेकिन या अतीत का विषय है।
आधुनिक समय में भारत का बांग्लादेश से मधुर संबंध स्थापित हुए है।

भारत-म्यांमार सीमा रेखा

म्यांमार भारत के पूर्व में स्थित देश है जिसकी राजधानी नैप्यीदा है।
इसका क्षेत्रफल  676,575 वर्ग किलोमीटर है। म्यांमार की सिमा भारत के अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम , मणिपुर और नागालैंड राज्य से लगी हुयी है।
म्यांमार भारत के साथ 1643 किलोमीटर की अंतरास्ट्रीय सिमा साझा करती है। जिसे भारत-म्यांमार सिमा रेखा कहा जाता है।
इसके अलावा भारत के पड़ोसी देश अफगानिस्तान, मालदीव और इंडोनेशिया है।

कैसी लगी आपको भारत के पड़ोसी देश और सीमाओं के बारे में जानकारी-हिंदी में के बारे में यह पोस्ट हमें कमेन्ट के माध्यम से अवश्य बताये और आपको किस विषय की नोट्स चाहिए या किसी अन्य प्रकार की दिक्कत जिससे आपकी तैयारी पूर्ण न हो पा रही हो हमे बताये हम जल्द से जल्द वो आपके लिए लेकर आयेगे| आपके कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है |

SarkariJobGuide.com का निर्माण केवल छात्र को शिक्षा (Educational) क्षेत्र से सम्बन्धित जानकारी उपलब्ध करने के लिए किया गया है, तथा इस पर उपलब्ध पुस्तक/Notes/PDF Material/Books का मालिक SarkariJobGuide.com नहीं है, न ही बनाया और न ही स्कैन किया है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material प्रदान करते हैं। यदि किसी भी तरह से यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो कृपया हमें Mail करें SarkariJobGuide@gmail.com पर

error: Content is protected !!