fbpx
SarkariJobGuide Special Study Materials

Governor of RBI Mr. Shaktikanta Das ( जानिए RBI के नए गवर्नर के बारे में)

Governor of RBI
जानिए कौन हैं? RBI के नए गवर्नर (Who is the New Governor of RBI?)

शक्तिकांत दास का जन्म 26 फरवरी 1957 को हुआ था। उन्होंने इतिहास में एमए किया है और तमिलनाडु कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। वो फिलहाल भारत के 15 वें वित्त आयोग और भारत के शेरपा जी -20 में सदस्य हैं। शक्तिकांत ने भारत के राजस्व सचिव, भारत के आर्थिक मामलों के सचिव और भारत के उर्वरक सचिव के रूप में अपनी सेवाएं दी हैं। उन्होंने नई दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से मास्टर्स डिग्री ली है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उनके इस्तीफे के बाद यह सवाल खड़ा हो गया है कि अब गवर्नर का पद कौन संभालेगा। जब तक नए गवर्नर की नियुक्ति नहीं हो जाती है, तब तक सरकार द्वारा चयनित कोई व्यक्ति इस अवधि में यह जिम्मेदारी संभालेगा। इसके बाद नए गवर्नर को सरकार द्वारा नियुक्त किया जाएगा। सरकार ने नए गवर्नर की खोज शुरू कर दी है

Governor of RBI

जानिए नए गवर्नर शक्तिकांत दास के बारे में कुछ खास बातें?
  1. शक्तिकांत दास 1980 बैच के तमिलनाडु काडर के आईएएस अधिकारी हैं. दास दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास में स्नात्कोत्तर हैं. वे अपने 37 वर्ष के लंबे कार्यकाल में  केंद्र और राज्य में ज्यादातर आर्थिक एवं वित्त विभागों में ही तैनात रहे.
  2. शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) को वित्त मंत्रालय में पहली बार 2008 में संयुक्त सचिव के तौर नियुक्त किया गया, जब पी. चिदंबरम वित्त मंत्री थे. इसके बाद संप्रग सरकार में जब प्रणब मुखर्जी ने वित्त मंत्री का कार्यभार संभाला तब भी वह इसी मंत्रालय में डटे रहे और पहले संयुक्त सचिव के तौर पर और फिर अतिरिक्त सचिव के रूप में लगातार पांच साल वह बजट बनाने की टीम का हिस्सा रहे. यह कार्यकाल चिदंबरम और मुखर्जी दोनों के समय रहा.
  3. शक्तिकांत दास(Shaktikanta Das) को दिसंबर 2013 में रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय में सचिव बनाया गया लेकिन मई 2014 में केन्द्र में भाजपा की सरकार बनने के बाद उन्हें वापस वित्त मंत्रालय में राजस्व सचिव बनाया गया.
  4. पहले वह मोदी सरकार में कालेधन के खिलाफ उठाये गये कदमों में शामिल रहे और उसके बाद माल एवं सेवाकर को लागू करने में आम सहमति बनाने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई.
  5. सितंबर 2015 में शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) आर्थिक मामले विभाग में स्थानांतरित किये गये, जहां उन्होंने नोटबंदी के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. नोटबंदी के बड़े झटके के दौरान सरकार का बचाव करते हुये उन्होंने न केवल आर्थिक गतिविधियों को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई बल्कि अर्थव्यवस्था में 500 और 2,000 रुपये का नया नोट जारी करने और इसकी आपूर्ति बढ़ाने में भी अग्रणी भूमिका निभाई.
  6. शक्तिकांत दास को एक शांत स्वभाव के व्यक्ति के रूप में जाना जाता है. अमूमन वह अपना आपा कभी नहीं खोते हैं और आम सहमति से समाधान निकालने पर ज्यादा ध्यान देते हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि रिजर्व बैंक में गवर्नर की भूमिका में वह आम सहमति से काम आगे बढ़ा सकते हैं.
  7. उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक और वित्त मंत्रालय के बीच कई मुद्दों पर खींचतान बनी हुई है. इन मुद्दों में रिजर्व बैंक में कोष अधिशेष का उपयुक्त आकार क्या हो. सूक्ष्म, लघु और मझोले उपक्रमों सहित विभन्न क्षेत्रों में कर्ज देने के नियमों को उदार बनाना जैसे कई मुद्दे हैं जिनपर वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक आमने सामने रहे हैं.
  8. शक्तिकांत दास(Shaktikanta Das) रिजर्व बैंक के 25वें गवर्नर होंगे. उनकी बेदाग सेवा के दौरान उनके खिलाफ एक प्रतिकूल बात उस समय हुई थी जब भाजपा सांसद सुब्रमणियम स्वामी ने परोक्ष रूप से आरोप लगाया था कि उन्होंने महाबलिपुरम (तमिलनाडु) में एक जमीन को हड़पने के मामले में चिंदबरम की मदद की है. यह मामला उस समय का बताया गया जब दास तमिलनाडु में उद्योग सचिव थे.
  9. सुब्रमणियम स्वामी द्वारा आरोप लगाने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दास का पूरा बचाव किया था और कहा था कि ‘यह एक अनुशासित सरकारी अधिकारी के खिलाफ अनुचित और असत्य आरोप है’.
  10. आपको बता दें कि उर्जित पटेल ने निजी वजहों का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया था. उदारीकरण के पिछले तीन दशक में यह पहला मौका है जब वित्त मंत्रालय के साथ तनाव के बीच किसी गवर्नर ने त्यागपत्र दिया है.

RBI के नए गवर्नर के बारे में रोचक तथ्य (Interesting Facts About New Governor of RBI)- Governor of RBI शक्तिकांत दास के साथ एक रोचक तथ्य जुड़ा है, जब शक्तिकांत दास वित् सचिव पद से रिटायर हुए तो 1 Rs. की नोट दी गयी थी जिसमें उनके खुद के हस्ताक्षर थे। उन्हें क्या पता था की 1 वर्ष बाद ही वो Governor of RBI बनेंगे और अगले 3 वर्ष तक भारत के सभी नोटो में उनके ही हस्ताक्षर होंगे

जल्द और सही जानकारी पाने के लिए हमें FaceBook पर Like करे 

कैसी लगी आपको ये RBI के नये गवर्नर, New Governor of RBI, Governor of RBI शक्तिकांत दास से सम्बन्धित यह पोस्ट हमें कमेन्ट के माध्यम से अवश्य बताये और आपको किस विषय की नोट्स चाहिए या किसी अन्य प्रकार की दिक्कत जिससे आपकी तैयारी पूर्ण न हो पा रही हो हमे बताये हम जल्द से जल्द वो आपके लिए लेकर आयेगे|

धन्यवाद——-

SarkariJobGuide.com का निर्माण केवल छात्र को शिक्षा (Educational) क्षेत्र से सम्बन्धित जानकारी उपलब्ध करने के लिए किया गया है, तथा इस पर उपलब्ध पुस्तक/Notes/PDF Material/Books का मालिक SarkariJobGuide.com नहीं है, न ही बनाया और न ही स्कैन किया है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material प्रदान करते हैं। यदि किसी भी तरह से यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो कृपया हमें Mail करें SarkariJobGuide@gmail.com पर

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!