भारत रत्न पुरस्कार विजेता 2019- पूरी जानकारी हिंदी में

भारत रत्न पुरस्कार विजेता 2019 : भारत रत्न 2019 प्रणब मुखर्जीभूपेन हजारिका एवं नानाजी देशमुख को प्रदान किया गया है। प्रणब मुखर्जी पूर्व राष्ट्रपति रहे हैं, भूपेन हजारिका प्रसिद्ध गायक और नाना जी देशमुख जनसंघ के नेता थे। इन तीनों को 08 अगस्त 2019 को भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न‘ से सम्मानित किया गया है जिसकी घोषणा 25 जनवरी 2019 को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की गई थी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा यह सम्मान प्रदान किया गया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक नानाजी देशमुख और गायक भूपेन हजारिका को मरणोपरांत यह सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया गया है।

भारत रत्न राष्ट्रीय सेवा में महत्वपूर्ण योगदान के लिए दिया जाता है। भारत रत्न की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी। सर्वप्रथम यह सम्मान डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन को दिया गया था।

आप ये भी पढ़ सकते है-

प्रणब मुखर्जी

प्रणब मुखर्जी
  • प्रणब मुखर्जी का जन्म 11 दिसम्बर 1935 को पश्चिम बंगाल राज्य के बीरभूम जिले में हुआ था।
  • प्रणब मुखर्जी भारत के पूर्व राष्ट्रपति एवं राजनेता रहें हैं। राष्ट्रपति के रूप में इनका कार्यकाल 25 जुलाई 2012 से 25 जुलाई 2017 तक रहा।
  • प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति बनने से पाहले 8 बार कैबिनेट मंत्री भी रहे।
  • प्रणब मुखर्जी ने 1969 में अपने राजनितिक जीवन की शुरुआत की थी, इसी वर्ष वह पहली बार राज्यसभा के सांसद बने थे।
  • 35 वर्ष की आयु में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने प्रणब मुखर्जी को राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया था।
  • प्रणब मुखर्जी वर्ष 1974 में केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री बने और वर्ष 1975, 81, 93 और 1999 में राज्यसभा में निर्वाचित होकर पहुंचे।

ये भी पढ़े-

भूपेन हजारिका

  •  भूपेन हजारिका का जन्म 8 सितंबर 1926 को असम में हुआ था। 
  • भूपेन हजारिका भारत के एक प्रसिद्ध गायक हैं जिन्होंने 10 वर्ष की अल्पायु में ही अपना पहला गाना रिकॉर्ड किया था और 13 वर्ष की आयु में ही पहला गाना लिखा था।
  • भूपेन हजारिका ने 13 वर्ष की आयु में ही ज्योतिप्रसाद की फिल्म ‘इंद्रमालती’ में दो गाने गाए थे।
  • संगीत के क्षेत्र में भूपेन हजारिका के अविस्मरणीय योगदान के लिए वर्ष 1975 में ‘राष्ट्रीय पुरस्कार’ और वर्ष 1992 में फिल्म जगत के सर्वोच्च पुरस्कार ‘दादा साहब फाल्के’ सम्मान से सम्मानित किया गया था।
  • भूपेन हजारिका ने अपने जीवनकाल में एक हजार गाने और 15 किताबें लिखीं हैं।
  • ‘रुदाली’, ‘साज’, ‘मिल गई मंजिल मुझे’, ‘गजगामिनी’, ‘दरमियां’, ‘दमन’ और ‘क्यों’ आदि कई सुपरहिट फिल्मों में अपने गीत दिए।
  • भूपेन हजारिका का देहावसान 5 नवंबर 2011 को हुआ।

आप ये भी पड़ सकते है –

  1. CCC Course की पूरी जानकारी हिंदी में – Click Here
  2. “O” Level की पूरी जानकारी हिंदी में – Click Here
  3. CCC New Course Syllabus in hindiClick Here
  4. कौन क्या है GK – CLICK HERE
  5. UP TET 2019 का परीक्षा पाठ्यक्रम हिंदी में– CLICK HERE
  6. UP TET एग्जाम की तैयारी कैसे करेClick Here
  7. CTET 2019: सिलेबस अथवा एग्ज़ाम पैटर्न– Click Here

नानाजी देशमुख

नानाजी देशमुख, 
  • नानाजी देशमुख (चंडिकादास अमृतराव देशमुख) का जन्म महाराष्ट्र के कडोली में 11 अक्टूबर सन 1916 को एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था।
  • नानाजी देशमुख भारत के एक वरिष्ठ और प्रसिद्ध समाजसेवी थे। नानाजी देशमुख राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रसिद्ध विचारक थे।
  • नानाजी देशमुख वर्ष 1930 के दशक में ही आरएसएस में शामिल हो गये थे।
  • नानाजी देशमुख जीवनभर दीनदयाल शोध संस्थान के अंतर्गत चलने वाले विविध क्रिया कलापों के विस्तार के लिए कार्यरत रहे। वर्ष 1977 में जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद भी नानाजी देशमुख ने मंत्री पद स्वीकार नहीं किया था।
  • अटल बिहारी वाजपेयी (पूर्व प्रधानमंत्री) सरकार में नानाजी देशमुख को राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया गया था।
  • नानाजी देशमुख को वर्ष 1999 में शिक्षा, स्वास्थ्य एवं ग्रामीण स्वालंबन के क्षेत्र में अविस्मरणीय योगदान के लिए पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।
  • 27 फरवरी 2010 को चित्रकूट में नानाजी देशमुख का निधन हो गया।

ये भी पढ़ सकते है-

जल्द और सही जानकारी पाने के लिए हमें FaceBook पर Like करे sarkarijobguide

SarkariJobGuide

कैसी लगी आपको ये भारत रत्न पुरस्कार विजेता 2019- पूरी जानकारी हिंदी में की नयी पेशकश हमें कमेन्ट के माध्यम से अवश्य बताये और आपको किस विषय की नोट्स चाहिए या किसी अन्य प्रकार की दिक्कत जिससे आपकी तैयारी पूर्ण न हो पा रही हो हमे बताये हम जल्द से जल्द वो आपके लिए लेकर आयेगे|

धन्यवाद——-

आप ये भी पढ़ सकते है-

SarkariJobGuide.com का निर्माण केवल छात्र को शिक्षा (Educational) क्षेत्र से सम्बन्धित जानकारी उपलब्ध करने के लिए किया गया है, तथा इस पर उपलब्ध पुस्तक/Notes/PDF Material/Books का मालिक SarkariJobGuide.com नहीं है, न ही बनाया और न ही स्कैन किया है। हम सिर्फ Internet पर पहले से उपलब्ध Link और Material प्रदान करते हैं। यदि किसी भी तरह से यह कानून का उल्लंघन करता है या कोई समस्या है तो कृपया हमें Mail करें SarkariJobGuide@gmail.com पर

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!